Website Last Updated on August 16, 2018      
Schemes - Women Empowerment
महिला शक्ति पुरस्कार
प्रतिवर्ष महिलाओं के सशक्तिकरण हेतु विभिन्न क्षेत्रों में कार्य करने वाले व्यसक्ति को अन्तिरर्राष्ट्री य महिला दिवस 8 मार्च को महिला शक्ति पुरस्कावर से सम्मा नित किया जाता है। वर्ष 2009-10 में राज्य सरकार द्वारा पुरस्काकर की राशि 11,000 हजार से बढाकर 51,000 रूपये कर दी है। गत 10 वर्षो से महिलाओं के विभिन्ना क्षेत्रों में कार्य करने वाले व्य क्ति निर्धारित प्रपत्र में अपना आवेदन जिला परिषद्/उपनिदेशक कार्यालय में जमा करा सकते है।
स्त्रीज शक्ति पुरस्कार
भारतीय इतिहास की सुविख्यारत महिलाओं अर्थात् अहिल्या बाई होल्ककर, कण्णयगी, माता जीजाबाई, रानी गैंदिल्यूत जेलियांग एवं रानी लक्ष्मीाबाई के नाम पर दिये जाने वाले स्त्री शक्ति पुरस्काइर प्रतिवर्ष आमंत्रित किये जाते है। यह पुरस्काषर 5 महिलाओं को, जिन्होंीने निम्नजलिखित विशिष्टइ क्षेत्रों में से किसी एक क्षेत्र में असाधारण योगदान किया हो, को दिये जाते है :-
• निराश्रित महिलाओं एवं बच्चों , विधवाओं, अत्याीचारों एवं झगडों की पीडितों, विकलांग महिलाओं एवं बच्चोंा, वृद्धाओं आदि जैसी कठिन परिस्थितियों में जीवन यापन कर रही महिलाओं एवं बच्चोंा की सहायता एवं पुर्नवास।
• शिक्षा एवं प्रशिक्षण
• स्व्-सहायता दलों को बढावा
• शारीरिक श्रम में कमी लाने के लिए प्रोधौगिकी को बढावा देने सहित कृषि एवं ग्रामीण उद्योगों में महिलाओं को सहायता
• पर्यावरण संरक्षण
• सामूदायिक एवं राजनीतिक भागीदारी हेतु महिलाओं का सशक्तिकरण
• चिकित्साक की देसी प्रणालियों के प्रचार सहित स्वा स्य्ं कार्यक्रम
• कला, जन-प्रचार माध्य मों (इलेक्ट्रो निक प्रचार माध्यरमों सहित), समुदाय आधारित कार्यक्रमों आदि के माध्य,म से महिलाओं से संबंधित मुद्दों पर जागरूकता एवं संचेतना का विकास
कठिन परिस्थितियों में जीवन-यापन करते हुए किसी महिला द्वारा हासिल की गई व्यवक्तिगत उपलब्धियों को मान्येता प्रदान करने हेतु एक पुरस्काार।